Home Dadi Maa Ke Nuskhe मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय

मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय

362
0
मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय

मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय

कुछ अधिक पतले-दुबले युवक-युवतियां शारीरिक रूप से अधिक स्वस्थ होने की कोशिश करते हैं, लेकिन उनका मोटापा तेजी से बढ़ने लगती है तो मोटापे से भयभीत होकर, अपने मोटापे के निवारण के लिए जिम की ओर दौड़ते दिखाई देते हैं। लड़कियां मोटापा कम करने के लिए ‘डायटिंग’ करती हैं, लेकिन एक बार विकसित मोटापा फिर सरलता से कम नहीं हो पाती है।

मोटापे के कारण शारीरिक सौंदर्य आकर्षण नष्ट हो जाता है। स्तनो की सुडौलता नष्ट हो जाती है। नितंब भी बेडोल दिखाई देते हैं। मोटापे के कारण स्त्री-पुरुष को अनेक रोग-विकार घेर लेते हैं।

मोटापा को स्थूलता नाम से भी जाना जाता है।

मोटापा कैसे और क्यों बढ़ता है?

‘पौष्टिक खाद्य-पदार्थ घी, मक्खन, मेवों का सेवन करने और बिल्कुल शारीरिक श्रम या व्यायाम नहीं करने से वसा की पाचन क्रिया नहीं होती है और वसा चर्बी के रूप में शरीर के विभिन्न अंगों में एकत्र होने लगती है। वसा के पेट पर एकत्र होने से मोटापा दिखाई देने लगता है। पौष्टिक भोजन करने और अधिक समय तक आराम करने से तेजी से मोटापा विकसित होती है।

मोटापे की समस्या वंशानुगत भी हो सकती है। परिवार में माता-पिता अधिक स्थूल हों तो उनके बच्चे भी युवावस्था तक पहुंचते-पहुंचते स्थूल हो जाते हैं। मोटापे के लक्षण किशोरावस्था से दिखाई देने लगते हैं। मोटापे की समस्या के कारण शारीरिक सौंदर्य आकर्षण नष्ट हो जाता है। मोटापे के कारण दौड़ना, सीढ़ियां चढ़ना व खेलना मुश्किल हो जाता है।

वयस्क होने पर स्थूल स्त्री-पुरुषों को अनेक रोग घेर लेते हैं। स्थूल स्त्री-पुरुष मधुमेह / शुगर  उच्च रक्तचाप और संधि शूल (जोड़ों के दर्द), गठिया, जोड़ों का दर्द आदि रोगों से अधिक पीड़ित होते हैं। हृदय रोग भी स्थूल स्त्री-पुरुषों को अधिक होते हैं। मोटापे की शिकार स्त्रियों को गर्भावथा में बहुत कठिनाई होती है। गर्भावस्था में ऐसी स्त्रियों को उच्च रक्तचाप के कारण बहुत परेशानी होती है। उच्च रक्तचाप के कारण मृत्यु की आशंका बढ़ जाती है। स्थूल स्त्री-पुरुषों की वृक्क समस्या भी होती है। स्थूल स्त्रियां पित्ताशय व मूत्राशय में पथरी से अधिक पीड़ित होती हैं।

पेट की चर्बी घटाने के आयुर्वेदिक नुस्खे

मोटापा समझने के लिए एक छोटी सी दादी माँ की कहानी

दादी मां की पोती अनुरंजना की एक क्लास मैट बिंदु उस दिन घर पर आ गई। अनुरंजना उसे अपने कमरे में ले गई। सीढ़ियां चढ़कर ऊपर के कमरे में जाना बिंदु के लिए मुश्किल हो गया। उसका शरीर पसीने से भीग गया, हृदय जोरों से धड़कने लगा। ऊपर की मंजिल पर पहुंचते-पहुंचते बिंदु बुरी तरह हांफने लगी। यह सब बिंदु की मोटापे के कारण हुआ था।

दादी मां ने बिंदु को देखा तो बोलीं-‘बिंदु बेटे! अभी तुम्हारी आयु 14-15 वर्ष होगी। अपने शरीर का ध्यान रखो। अधिक स्थूल हो जाने से तुम्हें आगे चलकर बहुत परेशानी हो सकती है।’

‘दादी मां! मोटापा कम करने के लिए डायटिंग करती हूं, जिम जाती हूँ, एक्सरसाइज करती हूं, लेकिन थोड़ी-सी भी पतली नहीं हो पाती। आप ही मुझे कोई मोटापा कम करने का उपाय बताइए।’ बिंदु ने दादी मां से कहा।

वजन कम करने के घरेलु उपाय

तो आईये अब हम आगे देखते हैं

वजन कम करने के घरेलु उपाय

मोटापा कम करने के दादी माँ के नुस्खे

    • विजयसार का काढ़ा बनाकर उसमें मधु मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या नष्ट होती है
    • 25 ग्राम नीबू के रस में 25 ग्राम मधु और 100 ग्राम उष्ण जल मिलाकर प्रतिदिन सुबह-शाम सेवन करने से मोटापे की समस्या नष्ट होने लगती है।
    • अग्निमथ का काढ़ा बनाकर अर्जुन का चूर्ण 2 ग्राम मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या कम होती है।
    • भोजन से पहले सलाद के रूप में टमाटर और प्याज थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर खाने से भोजन कम मात्रा में खाने पर मोटापे की समस्या नष्ट होती है।
    • त्रिफला का चूर्ण 15 ग्राम रात को थोड़े गर्म जल में डालकर रखें। सुबह उसको छानकर मधु मिलाकर सेवन करें। कुछ दिनों बाद मोटापे की समस्या नष्ट होने लगेगी।

वजन कम कैसे करे

    • 500 ग्राम हरड़, 500 ग्राम सेंधा नमक, 250 ग्राम काला नमक मिलाकर इसमें 20 ग्वारपाठे का रस डालें। खरल में घोटने पर जब रस सूख जाए तो 3 ग्राम रात्रि को उष्ण जल से सेवन करने से मोटापे की समस्या नष्ट होती है।
    • गुग्गल, त्रिकुट, त्रिफला और काली मिर्च का चूर्ण बराबर मात्रा में लेकर एरंड के तेल में अच्छी तरह घोटकर प्रतिदिन 3 ग्राम चूर्ण सेवन करने से मोटापे की समस्या (मेदा वृद्धि) नष्ट होती है।
    • प्रतिदिन तुलसी के पत्तों का 10 ग्राम रस और मधु 20 ग्राम 100 ग्राम जल में मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या नष्ट होने लगती है।
    • एक नीबू का रस प्रतिदिन प्रातःकाल हल्के गर्म जल में मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या नष्ट होती है।

पेट की चर्बी घटाने के आयुर्वेदिक नुस्खे

    • तिल या सरसों के तेल की मालिश कराने से कुछ दिनों में चर्बी कम होने से मोटापे की समस्या नष्ट होती है।
    • अपामार्ग के बीजों का चावल की तरह भात बनाकर खाने से मोटापे की समस्या धीरे-धीरे कम होने लगती है। इन बीजों के भात से भूख कम होती है।
    • पालक के 25 ग्राम रस में गाजर का 50 ग्राम रस मिलाकर पीने से कुछ दिनों में चर्बी घटने से मोटापे की समस्या नष्ट होने लगती है।
    • उष्ण जल के सेवन से मोटापे की समस्या नष्ट होती है। उष्ण जल के स्नान से भी मोटापे की समस्या कम होती है।
    • नीबू के 25 ग्राम रस में करेले का रस 15 ग्राम मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापे की समस्या नष्ट होने लगती है।
    • 50 ग्राम पालक के रस में 15 ग्राम नीबू का रस मिलाकर पीने से मोटापे की समस्या नष्ट होती है।

यह भी पढ़े: मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

शरीर का मोटापा कैसे घटाया जा सकता है

    • मोटापे की समस्या निवारण के लिए केवल औषधियों के सेवन से लाभ नहीं होता। भरपूर लाभ उठाने के लिए स्थूल स्त्री-पुरुषों को भ्रमण व व्यायाम करना भी आवश्यक होता है।
    • वसायुक्त खाद्य पदार्थों को पचाने के लिए शारीरिक श्रम करना आवश्यक होता है, लेकिन धनाढ्य परिवारों के किशोर व युवा बिल्कुल शारीरिक श्रम नहीं कर पाते। घी, दूध, मक्खन, फल-सब्जियों का सेवन शरीर में वसा की मात्रा तेजी से विकसित करता है।
    • शारीरिक श्रम नहीं कर पाने के कारण वसा एकत्र होकर मोटापे की समस्या को तीव्र गति से विकसित करती है। कुछ स्त्री-पुरुष समयाभाव के कारण व्यायाम नहीं कर पाते, जबकि कुछ स्त्री-पुरुष व्यायाम को मुसीबत समझते हैं। मोटापे की समस्या से बचने के लिए युवतियां डायटिंग का सहारा लेती हैं, लेकिन डायटिंग करने पर युवतियां जितनी कैलोरी बचाती हैं, शाम को उतना अधिक भोजन करके कैलोरी बढ़ा लेती हैं।

मोटापा घटाने का सबसे बढ़िया उपाय क्या है

    • विशेषज्ञों के अनुसार डायटिंग के कारण भूखा रहने पर पाचन अंगों को अधिक हानि उठानी पड़ती है। इन सब समस्यायों से बचने के लिए भ्रमण ही सबसे अच्छा उपाय है। प्रातः सूर्योदय से पहले बिस्तर से उठकर शौचादि से निवृत होकर भ्रमण के लिए जाना चाहिए। नदी किनारे, किसी पार्क में, तालाब के पास भ्रमण करने से अधिक लाभ होता है। नदी व स्वीमिंग पूल में तैरने से पर्याप्त व्यायाम होता है और मोटापे की समस्या निवारण में बहुत सहायता मिलती है।
    • स्थूल युवक-युवतियों के लिए यदि संभव हो तो जॉगिंग करने से भी भरपूर लाभ होता है। एरोबिक्स मोटापे की समस्या को कम करने में सहायता करता है। किशोरावस्था में स्थूल होती।
    • लड़कियों को ‘नृत्य’ करने से अधिक लाभ होता है। वे घर में रेडियो व टेलीविजन चलाकर गानों की धुन पर नृत्य करके मोटापे की समस्या को कम कर सकती हैं। साइकिल चलाने का अभ्यास करके भी मोटापे की समस्या को नष्ट कर सकती हैं। इतना कुछ नहीं कर पाने का स्थिति में लड़कियों को मोटापे की समस्या से बचने व शारीरिक संतुलन बनाए रखने के लिए बैडमिंटन, फुटबॉल व रस्सी कूदने के खेल खेलने चाहिए।

यह भी पढ़े: जानिए जल्दी मोटा होने के उपाय और घरेलु नुस्खे – Mota Hone Ke Upay

हमारे प्रिय पाठको हमें उम्मीद है की आपको “मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय” लेख जरूर पसंद आया होगा और आप के काम का भी होगा।  यदि आपको हमारा “मोटापा बढ़ने की वजह और वजन कम करने के उपाय” लेख अच्छा लगा होतो अपने जरुरतमंद परिवार के सदस्यो तथा मित्रो के साथ शेयर करे।  यदि आप हमसे  प्रश्न करना चाहते हैं या किसी भी प्रकार का घरेलु उपचार जानना चाहते हैं कृपया करके कमेंट करे।  हमें आपकी मदद करके ख़ुशी होगी। धन्यवाद।

यह भी पढ़े: खराब पाचन शक्ति को जड़ से ठीक करने के पांच सरल देशी नुस्खे और घरेलु उपाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here